नालागढ़सोलन

केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में नालागढ़ के किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन


नालागढ़ शहर में रोष रैली निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ की गई जमकर नारेबाजी
सरकार से तीनों कृषि बिलों को वापस लेने की उठाई गई मांग
एसडीएम नालागढ़ के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन
ज्ञापन के माध्यम से कृषि कानूनों को वापस लेने की उठाई मांग एवं नालागढ़ में अनाज मंडी खोलने की भी की गई है मांग

(बीबीएन)अजय रत्तन

किसान यूनियनों के आवेदन पर जहां पूरे देश में चक्का जाम किया जा रहा है वही प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में भी इसका असर देखने को मिला। नालागढ़ के तहत स्थानीय किसानों ने एकत्रित होकर कृषि बिलों के विरोध में नालागढ़ में भी रोष रैली निकालकर प्रदर्शन किया आपको बता दें कि रोष रैली नालागढ़ के पीडब्ल्यूडी से शुरू होकर पूरे बाजार से होते हुए एसडीएम ऑफिस तक निकाली गई ।

रोष रैली में सैकड़ों किसानों ने भाग लिया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करके प्रदर्शन किया गया इस मौके पर प्रदर्शनकारियों द्वारा एसडीएम नालागढ़ के माध्यम से राष्ट्रपति को एक ज्ञापन भी सौंपा गया जिसके माध्यम से तीनों कृषि बिलों को वापिस लेने की जहां मांग उठाई गई है वहीं स्थानीय किसानों ने भी सरकार से औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में एक अनाज मंडी खोलने की मांग उठाई है और मांग पत्र के माध्यम से सरकार को अवगत करवाया है कि अगर नालागढ़ में भी अनाज मंडी खुल जाए तो यहां के किसान अपनी अनाज को यहीं पर भेज सकते हैं क्योंकि उन्हें अपनी फसलें बेचने के लिए बाहरी राज्यों का रुख करना पड़ता है जिसके चलते उन्हें खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है किसानों ने सरकार से मांग उठाई है कि एक तो गरीबों को वापस लिया जाए दूसरा नालागढ़ में भी एक अनाज मंडी का आयोजन किया जाए।

इस बारे में मीडिया से बातचीत करते हुए एसडीएम नालागढ़ में महेंद्र पाल गुर्जर ने बताया कि स्थानीय किसानों द्वारा उनके माध्यम से राष्ट्रपति को एक ज्ञापन भेजा गया है जिसमें कृषि बिलों को वापिस लेने की मांग की गई है और उन्होंने अपना प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से किया है ।

उन्होंने कहा कि एक और ज्ञापन किसानों की ओर से उन्हें दिया गया है जिसके चलते नालागढ़ में एक अनाज मंडी खोलने की मांग उठाई गई है उन्होंने कहा कि इन मांगों को उच्च अधिकारियों के समक्ष रखा जाएगा और किसानों की मांगों को पूरा करने का उन्होंने आश्वासन दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!