बैजनाथ में आशा कार्यकर्ताओं को दी गई शक्ति किट में निकले खुन से सन्न ग्लव्स कोरोना काल में भी आशा कार्यकर्ताओं के साथ धोखाधड़ी


स्वतंत्र हिमाचल
( बैजनाथ)विजय कुमार

कोरोना काल मे भी कुछ लोग और कंपनी वाले लोगो से खिलवाड़ कर रहे है,और पैसा कमाने के चक्कर मे प्रयोग किए गए सामान को दोबारा पैक कर लोगों को ठग रहे है,ऐसा ही एक मामला बैजनाथ में देखने को मिला,जहां एक संस्था दवारा आशा वर्कर को दी गई किटों में से खून से सने हुए और इस्तेमाल किए हुए ग्लब्ज निकले,शनिवार को एक संस्था ने बैजनाथ के बचत भवन जिला चिकित्सा अधिकारी की उपस्थिति में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था,जिसमे 35 आशा वर्कर्स को किट वितरित की थी।

आशा वर्कर्स ने जब किट को घर जाकर खोला, तो उसमें बाकी समान तो नया था,पर ग्लब्जो में खून लगा था और यह सारे ग्लब्ज इस्तेमाल किए हुए थे।

प्रदेश में इस प्रकार का यह पहला मामला है कि जब आशा वर्कर्स को इस्तेमाल किए हुए ग्लव्ज मिले हो,इससे पहले देश की राजधानी दिल्ली में ऐसा मामला सामने आया था,जब ग्लब्जो को धोकर फिर से किट में डालकर इस्तेमाल करने को दे दिए थे

जिस सामाजिक संस्था ने यहां पर आशा वर्कर्स को यह किटें दी है,वो सामाजिक संस्था भी दिल्ली से संबंध रखती है।कोरोना काल के इस भारी संकट में भी आशा वर्कर अपनी जान जोखिम में डाल कर कार्य कर रही है लेकिन आशा कार्यकर्ताओं के साथ यह भदा मजाक किया गया है।

ऐसा मामला पहले दिल्ली से आया था। और अब दूसरा मामला हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा के बैजनाथ में सामने आया हे की संस्था के द्वारा वितरित की गई शक्ति किटो में खुन लगे हुए ग्लव्स मिले हैं और ये संस्था पिछले 10 सालों से कार्य कर रही है लेकिन कहीं ना कहीं तो गलती है। सरकार को चाहिए की जहां से संस्था ने ग्लव्स खरीदें है। ऐसे सभी लोगों पर सरकार कार्यवाही करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!