कुल्लू

सैंज घाटी में ठंड ने दी दस्तक


स्वतंत्र हिमाचल

(सैंज) प्रेम सागर चौधरी

पहाड़ी प्रदेश की फिजाओं में चुनाव की गर्मी के साथ एकदम मौसम बदल गया है, लोकतंत्र के महायज्ञ के साथ कोरोना के अधिक ऊंचाई वाले पर्वतों ने हल्की बर्फ की चादर ओढ़ ली। सैंज घाटी की चोटियों सहित कुल्लु ,मनाली, तक के पहाड़ बर्फ से ढकने लगे, जिससे निचले क्षेत्रों में भी बर्फीली हवाओं से ठंडक बढ़ गई है। जनजातीय क्षेत्र के जहां पहाड़ बर्फ से सफेद हो रहे हैं, वहीं पानी भी जमने लगा है।

घाटी के अधिकतर इलाकों में धूप के दौरान भी गर्मी का अहसास नहीं हो रहा और कुछ जगह तो दिन के समय भी तापमान शून्य से आठ-दस डिग्री नीचे है, जबकि रात के समय तो पारा 13-17 डिग्री माइनस तक पहुंच रहा है। कुल्लू-मनाली के रोहतांग दर्रा की चोटियां भी बर्फ से ढक चुकी हैं।
उधर, लाहुल स्पीति जिला में आने वाले दिनों में जल्द ही मोटी बर्फ की परत चढ़ने की संभावना है, आसमान में बादलों ने डेरा जमा लिया है और यदि निचले क्षेत्रों में बारिश होती है तो यह घाटी भारी बर्फबारी के कारण बंद हो जाएगी।

पहाड़ों पर हुई इस ताजा बर्फबारी के चलते असर सीधा निचले क्षेत्रों में पहुंचा है और मनाली से लेकर कुल्लू व मणिकर्ण घाटी सहित तीर्थन घाटी, आनी व सैंज तक में ठंड का प्रकोप एकदम बढ़ गया है। कुल्लू का अधिकतम तापमान ही 20-25 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि शाम चार बजे के बाद ही जकड़ने वाली ठंड का असर होने लगा और न्यूनतम पारा 12-13 से लेकर रात को 15 डिग्री तक पहुंच गया।

बर्फ के दीदार के लिए मशहूर सैंज की वादियां ¨वटर सीजन में देशी-विदेशी पर्यटकों की पसंदीदा जगह हैं। मनाली की आर्थिकी भी काफी हद तक पर्यटन सीजन पर टिकी है, जिससे सीधे तौर पर यहां के होटल व्यवसायियों, टैक्सी-बस व टूअर ट्रैवल एजेंसी सहित छोटे होटल-ढाबों सहित यहां साहसिक व पर्यटन गतिविधियों से जुड़े लोगों कब लाभ होता है। ऐसे में जल्द बर्फबारी होने से इनका धंधा खुल जाएगा और लोगों को आमदनी के द्वार भी खुल जाएंगे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!