ग्रामीणों ने विधायिका की गाड़ी रोक किया विरोध प्रदर्शन

स्वतंत्र  हिमाचल

(इंदौरा)अजय शर्मा

इंदौरा की विधायिका रीता धीमान जब बरोटा गांव से एक कार्यक्रम में शिरकत कर बसंतपुर क्रॉस कर रहे थी तो स्थानीय निवासियों ने उन्हें अपने गांव की
सड़क की हालत और वहाँ से गुजरने वाले ओवरलोड क्रेशर की गाड़ियों से होने वाली परेशानी से भी अवगत कराया ।

इस अवसर पर विधायिका को स्थानीय लोगों के भारी विरोध का भी सामना करना पड़ा । बसन्तपुर महिला मंडल की प्रधान शशि बाला गांव वासी चैन सिंह पूर्व प्रधान उर्मिला ठाकुर , जोगिंदर पाल सहित सैकड़ों ग्रामीणों ने विधायिका को रोक कर सड़क और क्रेशर की गाड़ियों की आवाजाही से होने वाली परेशानी को दिखाते हुए बसन्तपुर से गुजरने वाली क्रेशर की गाड़ियों को रोक दिया जिस कारण दोनों तरफ लंबा जाम लग गया ।

 

इस दौरान विधायिका रीताा धीमान और बसंतपुर ग्राम वासियों में जोरदार बहस हुई। हालात की सूचना मिलते ही ठाकुरद्वारा चौकी प्रभारी रूप लाल अपने दल संग मौके पर पहुंच गए।उसके तुरंत बाद इंदौरा थाना से आईपीएस अभिषेक एस और सुरेंद्र धीमान भी अपने दल के संग मौके पर पहुंच गए। पुलिस प्रशासन ने आनन-फानन में आकर ग्रामीणों द्वारा रोके गए ट्रकों के चालान काटने शुरू कर दिए।

 

विधायक रीता धीमान ने मौके पर ही डीसी कांगड़ा व एसडीएम से संपर्क साध कर समस्या के समाधान के लिए आग्रह किया । विधायिका के जाने के बाद भी देर शाम तक ग्रामीणों ने सड़क पर क्रेशर की गाड़ियों को नही जाने दिया जिस कारण क्रेशर उद्योग में हड़कंप मच गया । पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने मौके पर डेरे डाल लिए है।वहीं महिला मंडल की प्रधान शशि बाला ने कहा है कि वह क्षेत्र की सभी महिलायों को साथ लेकर क्रेशर उद्योग के खिलाफ बसन्तपुर में धरना देंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!