सूखे से निपटने व जंगलों को आग से बचाने के लिए जारी किया आपातकाल हेल्पलाइन व्हाट्सएप नंबर

(कांगडा)मनोज कुमार

 

संयुक्त भवन कार्यालय में उपमंडलाधिकारी कांगड़ा अभिषेक वर्मा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक का मुख्य उद्देश्य कांगड़ा उपमंडल में सूखे की स्थिति से निपटने और जंगलों को आग से बचाने पर केंद्रित रहा।

उपमंडल कांगड़ा की तरफ से सूखे की स्थिति से निपटने और जंगलों में आग लगने की स्थिति से निपटने के आपातकालीन व्हाट्सएप नंबर जारी किया गया है।


इस व्हाट्सएप नंबर पर कोई भी व्यक्ति कांगड़ा उपमंडल में कहीं भी पानी की लीकेज होते हुए या कहीं भी किसी भी रूप में पानी को बर्बाद हुए होते हुए देखता है, तो वह वहां की फोटो और लोकेशन इस व्हाट्सएप नंबर पर भेज सकता है। ताकि प्रशासन समय रहते इस पर कार्यवाही कर सके।

पानी की तरह ही यदि कोई भी व्यक्ति किसी भी जंगल में आग लगने की घटना को देखता है, तो इसी व्हाट्सएप नंबर पर वहां की फोटो और लोकेशन इस व्हाट्सएप नंबर पर भेज सकता है। ताकि समय रहते जंगल को आग से बचाया जा सके।

एसडीम कांगड़ा ने लोगों से अपील की है, कि पानी की बर्बादी को रोकने और जंगलों को आग से बचाने में प्रत्येक व्यक्ति प्रशासन की मदद करे।

हर वर्ष कितने ही जंगल आग में झुलस जाते हैं और उस आग में ना जाने कितनी संख्या में पशु, पक्षी, जानवर और कुछ ऐसे पशु पक्षी और जानवर भी जिन्होंने अभी जन्म लेना होता है, उन्हें भी जन्म लेने से पहले ही उस आग के कारण अपनी जान गंवानी पड़ती है।

उन्होंने बताया कि पानी इस पूरे संसार के लिए सबसे बहुमूल्य प्रकृति का उपहार है। पानी के संसाधन भी सीमित हैं। इसलिए पानी की कीमत समझें। इस वर्ष पूरे देश में सूखे के हालात बनने की स्थिति अधिक है। जहां एक तरफ इस वर्ष बारिश कम हुई है तो वही बर्फ का पिघलना भी कम होता हुआ देखा जा रहा है। जिसके परिणाम स्वरूप पानी की अधिक किल्लत का सामना इस वर्ष करना पड़ सकता है। इसलिए सभी लोगों से अपील है, कि समय रहते स्थिति को पहचानें। सूखे जैसी विकट स्थिति का सामना ना करना पड़े , इसलिए पानी की उपयोगिता को समझें, और इसे किसी भी तरह बर्बाद ना करें। पानी केवल मनुष्य ही नहीं अपितु पशु-पक्षी, जानवर, पेड़ पौधों आदि इस धरती पर सभी के लिए बहुत आवश्यक है। पानी के बिना किसी का भी जीवन संभव नहीं है। इसलिए पानी को बर्बाद ना करें।

एसडीम कांगड़ा ने कहा कि पहले तो कोशिश करें हमारी लापरवाही के कारण पानी बर्बाद ना हो और जंगलों में आग ना लगे।
इसके उपरांत भी यदि कोई व्यक्ति पानी की लीकेज होते या किसी भी रूप में भी पानी को बर्बाद होते हुए देखता है या जंगल में आग लगे हुए देखता है, तो वह तुरंत घटना की जानकारी प्रशासन द्वारा जारी किए गए आपातकाल हेल्पलाइन 8988801271 व्हाट्सएप नंबर पर फोटो और लोकेशन भेज कर दें। ताकि समय रहते उचित कार्यवाही की जा सके।इस बैठक में एसडीम कांगड़ा अभिषेक वर्मा सहित डीएसपी कांगड़ा सुनील राणा व अन्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!