मंडी

नागरिक अस्पताल सरकाघाट में पिछले पांच दशकों से ब्लड बैंक का इंतज़ार

दुर्घटनाओं में घायल हुए लोगों को खून ना मिलनें पर मंडी या हमीरपुर किया जाता है रेफर

कई मरीज़ रास्ते में ही तोड़ देते हैं दम।

(सरकाघाट )रितेश चौहान

चार विधानसभा क्षेत्रों धर्मपुर, सरकाघाट, भोरंज और घुमारवीं को बीमारी या आपातकाल में चिकित्सा सहायता प्रदान करने वाले नागरिक अस्पताल में पिछले पांच दशकों से ब्लड बैंक की सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण आजतक सैंकड़ों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और स्वास्थ्य विभाग एवम स्थानीय नेतृत्व ने इस ओर कोई भी कदम उठाने का प्रयास नहीं किया है।यह अस्पताल धर्मपुर, सरकाघाट, भोरंज और घुमारवीं विधानसभा क्षेत्रों के बीमार और दुर्घटना में घायल हुए लोगों के उपचार का सबसे उपयुक्त स्थान है और इन सभी के मध्य में नागरिक अस्पताल सरकाघाट पड़ता है लेकिन इस अस्पताल में ऐसे आपातकाल के लिए पिछले पांच दसकों से ब्लड बैंक खोलने की मांग लोगों द्वारा की जा रही है लेकिन जब कोई दुर्घटना होती है

तो उस समय प्रशासनिक अधिकारी और राजनेता अस्पताल में लोगों के सामने ब्लड बैंक खोलने की बात को लेकर गम्भीर दिखाई देते हैं लेकिन अस्पताल से अहाते से बाहर निकलने के बाद सभी कुछ भुला देना इनकी फितरत बन गई है।सेवा संकल्प समिति नागरिक अस्पताल सरकाघाट के अध्यक्ष एन आर पाठक सरकाघाट मंडल कांग्रेस अध्यक्ष सचिन वर्मा विवेकानंद सामाजिक जागरूकता समिति के अध्यक्ष प्रवीण कुमार हमारी आवाज संस्था के संस्थापक डॉक्टर सुनील शर्मा प्रदेश भाजपा कार्यसमिति सदस्य के एल राणा एवं किशोर राणा प्रदेश भाजपा आईटी सदस्य विनय राणा सामाजिक कार्यकर्ता सुनील शर्मा शहरी कांग्रेस अध्यक्ष अश्वनी गुलेरिया व्यापार मंडल के सदस्य धर्मपाल गुप्ता संजय शर्मा संजय गुप्ता सहित अनेक सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इस अस्पताल में ब्लड बैंक की यूनिट खोलने का अनुरोध किया है।

अस्पताल से मिले आंकड़ों के अनुसार प्रति वर्ष औसतन 150 – 200 लोग दुर्घटनाओं का शिकार होते हैं और उनमें से अधिकतर लोगों को मंडी या हमीरपुर के अस्पतालों में चिकित्सा करवाने के लिए भेजा जाता है और बहुत से लोग अधिक रक्त बह जाने के कारण रास्तों में ही दम तोड़ देते हैं।उपरोक्त सभी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने प्रदेश सरकार से नागरिक अस्पताल में ब्लड बैंक खोलने की मांग की है।

इस बारे जब अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ पी एल वर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अस्पताल में ब्लड बैंक की शाखा खोलने का मामला प्रदेश सरकार के विचाराधीन है और शीघ्र ही इसे खोल दिया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!