कोविड टीकाकरण का पंजीकरण स्वास्थ्य केंद्र पर ही करे सरकार : भूपेंद्र

(सरकाघाट)रितेश चौहान

 

धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के सजाओपीपलु वार्ड से पूर्व में रहे ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने कोविड वैक्सीन के टीकाकरण की वर्तमान प्रक्रिया को दोषपूर्ण बताया है और उसमें सुधार करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि गत सप्ताह से जो पोर्टल पर पंजीकरण हो रहा है वह निर्धारित समय के शुरूआती पांच दस सेकंडों में ही फुल हो जाता है और वैक्सीन लगवाने वालों को फ़िर से अगले स्लॉट का इंतज़ार करना पड़ रहा है।

दूसरी तरफ बहुत से युवा नज़दीकी 15-20 किलोमीटर दूर के स्वास्थ्य केंद्रों में भी बुकिंग करवा रहे हैं और नजदीकी क्षेत्र के स्थानीय लोगों को बुकिंग नहीँ मिल रही है।इसके अलावा बहुत से लाभार्थी ऐसे भी हैं जिनके पास ऑनलाईन पंजीकरण की सुविधा नहीं है।बहुतों के पास आई फ़ोन नहीं है और यदि फ़ोन हैं भी तो वे उसका इस्तेमाल करने में अभी अभ्यस्त नहीँ है।इसी प्रकार गत वर्ष सरकार ने कोविड सेतू एप भी जारी की थी और उसमें सभी को पंजीकृत होने के आदेश जारी किए थे लेकिन अब उसे सरकार भूल गयी है और उसके बारे कोई बात भी नहीं करते हैं।देश में कोरोना महामारी से बचने के लिए जो टीकाकरण हो रहा है और उसमें भी जो उम्र के मापदंड तय किये हैं वे भी अजोगरीब हैं।जिससे ऐसा लगता है कि कोरोना की पहली लहर केवल 55 वर्ष से ऊपर वालों को प्रभावित करेगी इसलिये पहले उन्हीं का टीकाकरण किया गया और फ़िर 45वर्ष से ऊपर वालों को टीके लगाने शुरू किये लेक़िन उन्हें अब बीच में ही रोक दिया और अब नब्बे दिनों बाद दूसरी डोज लगाने का निर्णय किया गया है।इसी बीच 18 साल से ऊपर वाले युवाओं को ऑनलाईन पंजीकरण के आधार पर टीके लगाए जाने की प्रक्रिया चल रही है और उसमें पूरी तरह अव्यवस्था फैली हुई है।

सरकार की इस कर्यप्रणाली से ऐसा लगता है कि इस दूसरी लहर में 18 साल से कम वालों को कोरोना असर नहीं करेगा इसलिये पहले से ही तीसरी लहर की बातें की जा रही हैं जो शायद बच्चों को ही प्रभावित करेगी।इस सारी प्रक्रिया को बदलने की जरूरत है और सभी का टीकाकरण होना चाहिए और उसके लिए सरकार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के स्तर पर सभी नागरिकों का सर्वेक्षण करना चाहिए और जो जो लोग उस क्षेत्र के हैं उनके लिए वैक्सीन लगाने की तिथियां निर्धारित करनी चाहिए और किस को कब टीका लगेगा उसे उसके घर पर ही आशा वर्करों और स्वास्थ्य कर्मियों या ग्राम पंचायत के वार्ड सदस्यों के माध्यम से सूचित करने की व्यबस्था करनी चाहिए।वर्तमान में जो ऑनलाईन पंजीकरण कराने की प्रक्रिया चल रही है उसके स्थान पर स्वास्थ्य केंद्र के स्तर पर सूची तैयार करने की जरूरत है।

भूपेंद्र सिंह ने ये भी सुझाव दिया है कि जैसे चुनाव आयोग चुनावों के समय मतदाताओं को मतदान से पूर्व घर घर उनके मतदाता सूची नंम्बर पहुंचता है उसी पैटर्न पर कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए सीरियल नंम्बर जारी किए जाने चाहिए।ऐसा करने से वर्तमान में फैली अफरा तफ़री को रोका जा सकता है और सबको बारी बारी टीका लगाया जा सकता है।उन्होंने ये भी सुझाव दिया है कि सरकार को इसके लिए अभियान चलाना चाहिए और उसके लिए तीन से छह महीने तक का समय निर्धारित किया जा सकता है और फ़िर जो लोग छूट जायेंगे उन्हें हर स्वास्थ्य केंद्र पर सप्ताह में एक दिन टीका लगाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!