अंग्रेजो के राज व भारत के स्वतंत्र होने की गवाह ने 100 बसन्त देखने के बाद त्यागे प्राण()

(अर्की)कृष्ण रघुवंशी

डॉक्टर हेतराम वर्मा सेवनिर्वित प्रधानाचार्य की माता सूहारू देवी का जिंदगी के 100 देखने के पश्चात आज हृदय गति रुकने के कारण देहावसान हो गया। स्व0 सुहारु देवी ग्राम कोलका में अपने पुत्रों के साथ रहती थी । उनके 7 लड़के व दो लड़कियां है । तथा 11 पोते व 11 पोतियां तथा 6 पडपोते व 5 षढ पोते है।

ज्ञात रहे कि स्व0 सहारू देवी का जीवन बहुत ही संघर्ष में रहा । वह कहा करती थी कि उन्होंने अंग्रेजों का राज भी देखा हैं। और भारत स्वतंत्र किस प्रकार से हुआ यह भी उन्हें भलीभांति याद था ।वह अपने बच्चों तथा परपोतो को अंग्रेजों की जुल्मो व न्याय की कहानियां सुनाया करते थी कि अंग्रेजो का राजकार्य करने का तरीका , आज के स्वतंत्र भारत से बिल्कुल भिन्न था। क्षेत्र के लोगो का कहना है कि आज एक इतिहास खत्म हो गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!